प्रबंधन विकास कार्यक्रम 2016- 2017

संस्थान अपने प्रारंभ से ही प्रबंधन विकास कार्यक्रम (एमडीपी) के विकास की ओर ध्यान दे रहा है। पिछले कुछ वर्षों में संस्थान देशभर के विभिन्न अंशधारकों के लिए कार्यक्रम के जरिए इंडस्ट्री और एकाडेमिया के बीच एक अंतराफलक का संबंध बनाने में सफल रहा है। 

एमडीपी योजना का उद्देश्य भारतीय उद्योगों, शिक्षा और सरकारी खंडों में काम कर रहे अधिकारियों के लिए विशेष तौर पर तैयार करना और अल्पावधि गुणवत्ता कार्यक्रम मुहैया कराना है, ताकि व्यापार और प्रबंधन के अभ्यास और एप्लीकेशंस की उभरती 7 वास्तविकताओं में उन्हें उन्नत ज्ञान और कौशल से लैस किया जा सके और उनके संगठनों की भविष्य में सफलताओं में उनकी व्यक्तिगत भूमिकाओं को निखारा जा सके। ये एमडीपीज काम करने वालों को अपनी जानकारी अद्यतन और जीवंत करने और स्वयं को आज के जमाने की सोच के हिसाब से बदलने का एक और अवसर प्रदान करता है ताकि ये स्वसंवर्धन प्राप्त कर सकें। प्रतिभागियों को प्रबंधन के विभिन्न संकायों जैसे शिक्षा प्रबंधन, सामान्य प्रबंधन, मानव संपदा, वित्त, सूचना प्रणाली, विपणन, संचालन प्रबंधन, सामरिक प्रबंधन और सतत विकास उपकरणों, तकनीकों और कौशल से परिचित होने का अवसर मिलेगा।

कार्यक्रम के स्थान

इन कार्यक्रमों में से अधिकांश का आयोजन भाप्रबंसं शिलाँग के परिसर में होगा। वहीं कुछ कार्यक्रमों को इस तरह तैयार किया गया है कि उनका आयोजन देश के अन्य प्रमुख शहरों में किया जा सके। भाप्रबंसं शिलाँग में आयोजित होने वाले कार्यक्रम आवासीय हैं। प्रतिभागियों को परिसर में स्थित एमडीपी आवास अथवा निकटवर्ती होटलों अथवा अतिथिशालाओं में ठहरने की सभी आरामदायक व्यवस्था की गई है। परिसर का शांत-एकांत वातावरण तथा हरी-भरी पहाड़ियां अध्ययन के लिए बेहद ही अनुकूल है। परिसर में तीव्रगति बैंडवीथ के जरिए चौबीस घंटे इंटरनेट की सुविधा है। इंटरनेट कनेक्शन प्रतिभागियों को न केवल अपने परिचितों बल्कि पूरे विश्व के व्यापार जगत के साथ जुड़ने का अवसर प्रदान करेगा।

आग्रह पर अनुकूलित इन कंपनी कार्यक्रम

संस्थान संगठनों से विभिन्न स्तरों पर उनकी कार्यकारिणी के लिए अनुकूलित प्रशिक्षण कार्यक्रमों के संचालन और ग्राहक संगठनों के व्यापार और विकास की जरूरतों के हिसाब से अनुकूल अद्वितीय कार्यक्रमों के प्रस्ताव का आग्रह स्वीकार करेगा। ग्राहक संगठनों के अनुसार जब जरूरत हो तब नियमित एमडीपीज से मानक मॉड्यूल्स को संयुक्त और अनुकूलित किया जाएगा। साधारणतः कंपनियां उनके लिए निर्दिष्ट कार्यक्रमों के प्रस्ताव के लिए सीधे संकाय अथवा निदेशक से संपर्क करते हैं।

इन कार्यक्रमों की अवधि उनके विषयों की विविधता, परिमाण और जटिलता पर दो दिनों से छह महीने तक के लिए होता है। इन कंपनी प्रोग्राम्स (आईसीपी) का आयोजन संस्थान के साथ ही ग्राहक संगठनों के परिसर में किया जाता है।

संपर्क करें

चेयरमैन, एमडीपी

भारतीय प्रबंधन संस्थान, शिलाँग

मयूरगंज परिसर, नांग्थेमाई, शिलाँग

इस्ट खासी हिल्स डिस्ट्रीक्ट, मेघालय, भारत

फोन- 0364-2308048/2308052

downward